गंगा तपस्वी आत्मबोधानन्द जी के समर्थन में हुआ उपवास >< पुनः आरम्भ होगा देशव्यापी गंगा आन्दोलन :-स्वामिश्रीः अविमुक्तेश्वरानन्दः

56

श्रीकाशी :-

आज गंगा की दशा किसी से छिपी नहीं है । मन्त्री धड़ल्ले से टी वी चैनलों पर कहते दिखाई देते हैं कि गंगा में एक बूँद भी गन्दगी नहीं है और अब गंगा निर्मल हो गयी है पर जमीनी स्तर पर सच्चाई देखने पर ये सारी बातें तथ्यहीन दिखाई पडती हैं । केवल वाराणसी में ही अनेक नाले सीधे गंगा जी में गिर रहे हैं जिसे कोई भी आख वाला व्यक्ति इन्कार नहीं कर सकता ।

उक्त बातें गंगा सेवा अभियानम् के सार्वभौम संयोजक स्वामिश्रीः अविमुक्तेश्वरानन्दः सरस्वती महाराज ने आज काशी के केदार क्षेत्र में स्थित शंकराचार्य घाट पर हरिद्धार के मातृ सदन आश्रम के महन्थ स्वामी शिवानन्द सरस्वती जी महाराज के शिष्य स्वामी आत्मबोधानन्द जी द्वारा विगत 172 दिनों से गंगा के लिए किए जा रहे तपस्या को अपने एकदिवसीय सांकेतिक उपवास द्वारा समर्थन देते हुए कही ।

उन्होंने ने कहा कि वर्तमान की केन्द्र सरकार पर विश्वास करके हम सबने अपने गंगा सेवा अभियानम् के अन्तर्गत चल रहे आन्दोलन को स्थगित कर दिया था परन्तु अब हमें इसको पुनः आरम्भ करना होगा क्योंकि इसी सरकार की उपेक्षा से हम सबने स्वामी ज्ञानस्वरूप सानन्द जी को खो दिया और अब उन्हीं की माॅगों को लेकर स्वामी आत्मबोधानन्द जी भी विगत 172 दिनों से केवल जल पीकर तपस्या कर रहे है । अब हम और गंगा तपस्वियों को नहीं खोना चाहते ।

आगे कहा कि स्वामी निगमानंद जी, स्वामी नागनाथ योगेश्वर जी, स्वामी सानन्द जी, स्वामी परिपूर्णानन्द जी, गंगा प्रेमी भिक्षु जी आदि तपस्वियों के गंगा के लिए किए योगदान को नहीं भुलाया जा सकता । इस सबने अपने स्वार्थ के लिए अविरल निर्मल गंगा की मांग नहीं की बल्कि गंगा से मनुष्य ही नहीं अपितु प्राणिमात्र का भला हो इस कल्याणकारी उद्देश्य से अपना सर्वस्व अर्पण कर दिया ।

उपस्थित मातृशक्ति ने बजडे पर गंगा गीत एवं भजनों की प्रस्तुति की । सबने गंगा सेवा अभियानम् को अपना समर्थन दिया और शहर के विभिन्न स्थानों पर गंगा के लिए अलग-अलग संस्थाओं द्वारा कार्यक्रम कराए जाने की बात कही ।

इस अवसर पर स्वामिश्री: के सान्निध्य में साधु-संत, वृद्ध, माताएॅ और बच्चों समेत कुल 40 से भी अधिक लोग सम्मिलित हुए। जिनके नाम क्रमशः इस प्रकार है –
1 स्वामी अभयानंद तीर्थ
2 ब्रह्मचारी केशवानंद जी
3 साध्वी पूर्णाम्बा
4 साई जल कुमार साहिब
5 सुश्री बृजबाला शर्मा
6 माधुरी पाण्डेय
7 रमेश उपाध्याय
8 विजया तिवारी
9 उर्मिला तिवारी
10 प्रेमा तिवारी
11 प्रमोद मांझी
12 महन्त महाराजमणि शरण सनातन जी
13 अभय शंकर तिवारी
14 हरि नाथ दुबे
15 संजय पांडेय
16 धर्मराज सिंह
17 अविनाश चंदू
18 रविन्द्र मिश्रा
19 श्री प्रकाश पाण्डेय
20 यतीन्द्र नाथ चतुर्वेदी
21 सुनील कुमार शुक्ला
22 रामचंद्र सिंह
23 रामसरन यादव
24 दीपक कुमार केशरी
25 रंजन कुमार शर्मा
26 पीयूष तिवारी
27 अनिल दीक्षित
28 लता कुमारी पाण्डेय
29 सतीश अग्रहरि
30 अजय कुमार पाण्डेय
31 अनुराग द्विवेदी
32 परितोष द्विवेदी
33 ओमप्रकाश पाण्डेय
34 देवी शारदाम्बा
35 लता अग्रवाल
36 सावित्री पाण्डेय
37 नीलम दुबे
38 कृष्णा पराशर
39 अभिषेक शर्मा
40 अरविंद पराशर

ज्ञातव्य हो कि वाराणसी के अतिरिक्त देश के अन्य प्रदेशों में भी परमधर्मसंसद् के धर्मांसदों ने आत्मबोधानन्द जी के समर्थन में आज उपवास किया ।

जाहिरात

Vidarbha24News युट्युब चॅनेल ला सबक्राईब करा

नोटिस: समाचार / में उद्धृत स्रोत लिंक केवल समाचार / आलेख प्रकाशित होने की तारीख पर मान्य हो सकते हैं। उनमें से अधिकतर एक दिन से कुछ महीने बाद अमान्य हो सकते हैं। जब कोई न्यूज लिंक  काम करने में विफल रहता है, तो आप स्रोत वेबसाइट के शीर्ष स्तर पर जा सकते हैं और समाचार / आलेख की खोज कर सकते हैं।