बालाजीपुरम मंदिर में शराब पीकर घुसे तीन मुस्लिम युवकों ने भगवान को दी गाली ; पुलिस ने तीनों युवकों पर किया मामला दर्ज

0
1429
Google search engine
Google search engine

 पकड़े गए तीनो मुस्लिम युवकों में एक मौलाना भी शामिल

बैतूल। सोमवार रात प्रसिद्ध मंदिर बालाजीपुरम में तीन मुस्लिम युवकों ने शराब पीकर भगवान को गाली गलौच की एवं उत्पात मचाया | मंदिर प्रबंधन ने बैतूल बाजार पुलिस को सूचना देकर बुलाया और युवकों को पुलिस के सुपुर्द कर कड़ी कार्यवाही कि मांग की | मंगलवार की सुबह बालाजीपुरम मंदिर प्रवंधन एवं बालाजी भक्तों ने अपने भगवानों का अपमान सहन नही करने की बात कहते हुए हाइवे जाम कर दिया है |
बालाजी भक्तों ने मंदिर के सामने हाइवे पर बैठकर आरोपी मुस्लिम युवकों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया और मंदिर का मुख्य प्रवेश द्वार पर ताला लगा दिया है मंदिर प्रबंधन की मांग है कि मुस्लिम समाज सामने आए और मंदिर प्रबंधन से माफी मांगे तब ही मंदिर का द्वार खोला जाएगा | कांची कामकोटि मठ का निर्देश भी है कि मंदिर के द्वार बंद रखे जाएं इस तरह मुस्लिम युवकों द्वारा मंदिर में किये गए कृत्य को बर्दाश्त नही किया जाएगा | हाइवे जाम होने की खबर लगते ही एसडीओपी नितेश पटेल, बैतूल बाजार टी आई एबी मर्सकोले, एस आई मोहित दुबे मौके पर पँहुचे और मंदिर प्रबंधन को भरोसा दिलाया कि पकड़े गए तीनो मुस्लिम युवकों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की बात कही उसके बाद हाइवे को खोला गया |
पकड़े गए तीनो मुस्लिम युवकों में एक मौलाना भी शामिल
बालाजीपुरम मंदिर परिसर में गाली गलौच करने वाले तीनो मुस्लिमों में आशिक पिता इशाक शाह चिचोली जो कि मौलाना है साथ ही सलमान साह पिता फारूक शाह निवासी चिचोली,सलमान शाह पिता नसरुल्ला शाह मुलताई है | मंदिर प्रबंधन ने बताया कि ये तीनो मंदिर घूम रहे थे शराब के नशे में थे और भगवानों को गाली गलौच कर धार्मिक भावनाओं को ठेस पँहुचा रहे थे जिन्हें पकड़कर पुलिस को सौंपा गया है |
बालाजीपुरम मंदिर कांचीकमकोटी मठ के मैनेजर एम चंद्रशेखर ने बताया कि मंदिर परिसर में मुस्लिम युवकों ने शराब पीकर उत्पात मचाया भगवान को गाली दी है इसलिए मंदिर बन्द किया गया है मुस्लिम समाज माफी मांगे और तीनों युवकों पर कड़ी कार्यवाही की जाए|
बालाजीपुरम मंदिर संस्थापक सेम वर्मा का कहना है कि ये मंदिर सभी लोगों के लिए खुला है हम लोग मुस्लिम समाज को भी सम्मान देते है उसके बाद इस तरह की हरकत जो मुस्लिम युवकों ने मंदिर के अंदर की है ये धार्मिक भावनाओं को ठेस पंहुचाने की कोशिश की गई है जो हम बर्दास्त नही करेंगे मुस्लिम समाज भी धर्म को मानते है उसके बाद इस तरह हिन्दू धर्म स्थल पर जाकर धर्मिक भावना को ठेस पंहुचना गलत है इस घटना के बाद मुस्लिम समाज आगे आये और माफी मांगे तब तक मंदिर पब्लिक के लिए बन्द रखा जाएगा, ऐसा आदेश शंकराचार्य की ओर से दिया गया है।
इस पूरे मामले में एसडीओपी नितेश पटेल ने बताया कि बालाजी मंदिर प्रबंधन द्वारा शिकायत की गई थी कि तीन मुस्लिम युवकिं द्वारा मंदिर में गाली गलौच कर धार्मिक भावनाओं को ठेस पंहुचाने का काम किया गया है पुलिस द्वारा तीनो युवकों पर एफआईआर दर्ज कर 153A, 295A, 34 IPC के तहत मामला दर्ज किया गया है ।
मुस्लिम युवकों पर कड़ी कार्यवाही के लिए शंकराचार्य के पत्र को पुलिस को सौंपा
मुस्लिम युवकों द्वारा मंदिर में भगवान को अपशब्द कहकर हिदू भावनाओ को ठेस पंहुचाया गया है जिससे पूरे मंदिर व बैतूल बाजार नगर में रोष व्याप्त है। कांचीकमकोटी मठ से शंकराचार्य द्वारा भेजे गए पत्र को जिसमे आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की मांग की है। इस पत्र को कुर्मी क्षत्रिय समाज के अध्यक्ष अशोक वर्मा, सरस्वती महतो, शिवनाथ वर्मा, बंटी विवेक वर्मा, बंटी वर्मा, मंदिर के मैनेजर एम चंद्रशेखर, अनूप वर्मा, पंकज पटेरिया, दीपक वर्मा, प्रमोद वर्मा, लल्ला पटेल सहित बालाजी भक्तों ने एसडीओपी नितेश पटेल को सौपा है।